तेज गेंदबाज ओली रोबिन्सन ने क्रिकेट से लिया ब्रेक, परिवार के साथ बिताएंगे समय

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट करियर का आगाज करने वाले इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ओली रोबिन्सन ने क्रिकेट से ब्रेक लेने का फैसला किया है। उन्हें ईसीबी ने अनुशासनात्मक जांच के परिणाम आने तक उनकी सोशल मीडिया टिप्पणियों के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट से सस्पेंड कर दिया था। उन पर 2012 और 2013 में ट्विटर पर अश्लील और नस्लीय टिप्पणी के करने के आरोप लगे थे। रोबिन्सन ने इंग्लैंड की तरफ से डेब्यू करते हुए कीवी टीम के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में सात विकेट झटके थे। इसी के साथ बल्लेबाजी में मौका मिलने पर पहली पारी में शानदार 42 रन बनाए थे। ये टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। ओली रोबिन्सन के काउंटी क्रिकेट क्लब ससेक्स ने आज यह जानकारी दी है। वो दो वाइटैलिटी ब्लास्ट टी20 मैचों के लिए उपलब्ध नहीं होंगे। ससेक्स ने रॉबिन्सन के ट्वीट की निंदा की और कहा कि वो आगे चलकर इसे सीखेंगे। काउंटी की तरफ से उन पर कोई अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं की जाएगी। ससेक्स ने बयान जारी किया कि ओली ने अपने युवा परिवार के साथ समय बिताने के लिए खेल से एक छोटा ब्रेक लेने का फैसला कियाहै। ओली के दोबारा जुड़ने का हम अपडेट जारी करेंगे। ओली रोबिन्सन ने हालांकि इतने साल बाद यह मामला सामने आने के बाद माफी भी मांग ली थी। अपने पुराने ट्वीट्स वायरल होने के बाद रोबिन्सन ने माफी मांगते हुए कहा कि, "मैं शर्मिंदा हूं अपने अश्लील और नस्लीय कमेंट के लिए, जो मैंने ट्विटर पर आज से 8 साल पहले शेयर किया था और वह आज सबके सामने आ रहा है। तेज गेंदबाज ने कहा कि वे इस तरह की हरकत के लिए माफी मांगते हैं और इस तरह की टिप्पणियां करने के लिए बेहद शर्मिंदा हैं। ये ट्वीट तब किए थे जब वह अपनी जिंदगी के बुरे दौर से गुजर रहे थे, क्योंकि इंग्लिश काउंटी यार्कशर ने उन्हें किशोरावस्था में बाहर कर दिया था। गौरतलब है कि इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच आज से दो टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला जा रहा है। संस्पेंड होने की वजह से उन्हें इस मैच में टीम में शामिल नहीं किया गया है। इंग्लैंड ने ओली रोबिनसन की जगह ओली स्टोन को टीम में शामिल किया है।