भारत में पेट्रोल-डीजल पर सबसे अधिक टैक्स, टैक्स में विश्व के सभी देशों को पीछे छोड़ा

आईआईएमटी न्यूज डेस्क, ग्रेटर नोएडा



काजल शर्मा


देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार ने मंगलवार रात पेट्रोल और डीजल पर एक्साइड ड्यूटी बढ़ाने का फरमान जारी किया। पेट्रोल पर 10 रूपए प्रति लीटर और डीजल पर 13 रूपए प्रति लीटर टैक्स बढ़ा दिया। अब पंप पर मिलने वाले पेट्रोल-डीजल का टैक्स बढ़कर 69 फीसदी हो गया है, जो दुनिया में सबसे ज्यादा है। कोरोना वायरस के कारण पिछले महीने कच्चे तेल की कीमत प्रति बैरल 18.10 डॉलर के निम्न स्तर पर पहुंच गई थी, जो 1999 के बाद से सबसे कम कीमत थी। सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना के अनुसार पेट्रोल पर 10 रूपए टैक्स बढ़ाया गया है। जिसमें आठ रूपये रोड और इन्फ्रास्ट्रक्चर सेस में जाएंगे और 2 रूपये स्पेशल एक्साइज ड्यूटी के होंगे। इसी प्रकार डीजल पर 13 रूपए प्रति लीटर की वृद्धि की गई है। इसमें 8 रूपये रोड सेस और 5 रूपए एक्साइज के होंगे। बता दे कि इससे पहले, दिल्ली सरकार ने भी पेट्रोल की कीमत 1.67, जबकि डीजल की कीमत 7 रूपए प्रति लीटर के हिसाब से बढ़ा दी थी। इसके साथ ही डीजल-पेट्रोल पर वैट बढ़ाकर 30 फीसदी कर दिया था। अब दिल्ली में पेट्रोल 71.26 रूपए प्रति लीटर और डीजल 69.39 रूपए प्रति लीटर बिक रहा है।